छिटपुट हिंसा के बीच हुआ पहले दौर का मतदान, मंत्री शाहिद मंजूर को खदेड़ा

यूपी में आज पहले चरण के मतदान में छिटपुट हिंसा की घटनाओं के बीच वोटिंग शांतिपूर्ण रहा। मेरठ के सरधना से विधायक और बीजेपी प्रत्याशी संगीत सोम के भाई गगन सोम को पुलिस में हिरासत में लिया । गगन सोम पिस्टल के साथ पोलिंग बूथ पहुंचे थे। वहीं मेरठ के ही किठौर में प्रदेश मंत्री शाहिद मंजूर के साथ गाली-गलौज हुई। शाहिद के बूथ में जाने पर जमकर विरोध हुआ और उनकी गाड़ी पर पथराव किया गया। पथराव में शाहिद मंजूर की कार का शीशा फूट गया और मंजूर को वहां से भागना पड़ा।

कुछ जगहों पर ईवीएम में खराबी आने से वोटिंग प्रभावित हुई है, जबकि आगरा के पास एक गांव के एक बूथ के वोटर्स ने मतदान का बहिष्कार किया। पहले फेज में 839 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होने वाला है। कुल 14514  केंद्रों पर पर 2362 डिजिटल कैमरे और 1526 वीडियो कैमरा लगाए गए थे।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले दौर में पश्चिमी यूपी के 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर वोट डाले गए हैं। इस दौर के में कई हाई-प्रोफाइल उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है जिसमें केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह औऱ लालू यादव के साले साधु यादव के दामाद भी शामिल हैं।

SHARE