तिहाड जेल तोड़ने के फिराक में है भटकल

67

देश के सबसे बड़े और सबसे सुरक्षित जेल में बंद आतंकवादी भटकल तिहाड़ जेल से भागने के फिराक में है। 2013 के हैदराबाद बम ब्लास्ट केस में यासीन भटकल समेत 4 लोगों को हैदराबाद कोर्ट ने दिसंबर में मौत की सजा सुनाई थी। आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन (IM) के आतंकी यासीन भटकल को उसके बाद उसके साथियों के साथ तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया। खुफिया एंजेसियों को मिली जानकारी के मुताबिक भटकल के करीबी कुछ साथी विदेशी आंतकी संगठनों की मदद से उसके बाहर आने का प्लान बना रहे हैं।

एजेेंसियों से मिली जानकारी के मुताबिक साल 2015 की शुरुआत में भी सुरक्षा एजेंसियों ने यासीन भटकल की अपनी पत्नी को की गई एक कॉल को इंटरसेप्ट किया था। अपनी पत्नी के साथ बातचीत में यासीन को सीरिया से मदद के सहारे जेल से बाहर आने की बात कही थी। एजेंसियों ने बताया है यासीन का मामले में आतंकी संगठन ISIS का जिक्र पहले भी आया है। जब उसे भारत-नेपाल की सीमा से गिरफ्तार किया गया था तो भी उसने अंगुली उठाते हुए IS लड़ाकों का सिग्नेचर पोज भी बनाया था।

मौत की सजा पाने के कारण यासीन भटकल को एकान्त कारावास में रखा गया है। लेकिन खुफिया अलर्ट के बाद चौकसी बढ़ा दी गई है। जेल के बाहर गार्ड्स और सीसीटीवी कैमरे मौजूद हैं जो 24 घंटे उस पर नजर बनाए हुए हैं। एजेंसियां बाहर के मददगारों की जांच में जुट गई है।

SHARE