राणा यशवंत और उनके बेटे को फोन पर धमकी

1981

खबरों की सच्चाई आम लोगों तक पहुंचाना कभी भी खतरे से खाली नहीं रहा। छोटे कस्बों से लेकर जिला मुख्यालय तक अक्सर पत्रकारों को नेता औऱ छुटभैये धमकाते रहे हैं। कुछ अवसरों पर देखा गया है कि बड़े और नामचीन पत्रकारों के साथ खबरों में पक्षपात का आरोप लगाकर बदतमीजियां भी हुई हैं। लेकिन ताजा उदाहरण ज्यादा चिंताजनक है। वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत के साथ आज कुछ ऐसा ही हुआ है।

राणा यशवंत को फोन कर किसी अज्ञात शख्स ने गालियां दी है, धमकी दी है, देशद्रोही कहा और साथ ही जान से मारने तक की बात भी की। धमकी देने वाला शख्स राणा यशवंत के मशहूर कार्यक्रम अर्धसत्य में किसानों के हित में दिखाए गये किसी रिपोर्ट पर नाराज था। इतना ही नहीं उक्त शख्स के पास राणा यशवंत के घर का नंबर भी मौजूद था और उन लोगों ने फोन पर उनके बेटे को भद्दी-भद्दी गालियां दी और अंजाम भुगतने और जान से मारने की बात की ।

 

राणा यशवंत ने यह किस्सा अपने फेसबुक साझा किया है। मीडिया सरकार राणा यशवंत के साथ हुई इस किस्म की बदतमीजी का जमकर विरोध करता है और प्रशासन से इस मामले की जांच मांग करता है।

SHARE