BJP से अलग होगी शिवसेना: संजय राउत

BJP और शिवसेना की तल्खी बढ़ती जा रही है, शिवसेना लीडर संजय राउत ने कहा है कि उनकी पार्टी बीजेपी के साथ जल्द गठबंधन खत्म कर सकती है।एक रैली में बोलते हुए संजय राउत ने कहा कि राज्य सरकार फिलहाल नोटिस पीरियड पर है। बीएमसी चुनाव के बाद हम सपोर्ट वापस ले सकते हैं। इसके पहले लोकसभा में भी शिवसेना की ओर से तल्खी देखने को मिली। सोमवार को पार्टी सांसदों ने नोटबंदी, राम मंदिर और तानाशाही रवैये पर मोदी सरकार को घेरा।

संजय राउत के बयान के बाद सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ऐसा बयान देने वाले की खुद अपनी पार्टी में कोई औकात नहीं। हम भी उन्हें कोई अहमियत नहीं देते हैं। हमारी सरकार पूरे 5 साल तक रहेगी। बीएमसी के इलेक्शन16 से 23 फरवरी के बीच होना है। लोकसभा में सांसद आनंदराव अदसूल ने कहा, ”बाल ठाकरे ने 2002 के दंगों के बाद तब के पीएम वाजपेयी जी को गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी को पद से हटाने से रोका था। अगर बालासाहेब ऐसा नहीं करते तो शायद आज वे पीएम नहीं बन पाते।”

बीजेपी हमेशा कहती आई है कि वह महाराष्‍ट्र में शिवसेना का छोटा भाई है, लेकिन पिछले इलेक्शन में ज्‍यादा सीटें जीतने के बाद से वह बड़े भाई की तरह बर्ताव कर रही है। अगर छोटे भाई के 4 बच्‍चे हैं और बड़े के केवल दो तो क्‍या छोटा भाई बड़ा बन जाता है। ऐसे कदम से ही भाइयों के बीच संबंध खराब होते हैं।
SHARE