कर्जदार नहीं कर पाएंगे ट्रेन में सफर, बच्चों को नीं मिला प्राइवेट स्कूल में दाखिला

नई दिल्ली। भारत में कर्जदारों को बैंकों का पैसा लेकर भागते देखा गया है, लेकिन चीन ने ऐसे कर्जदारों से निपटने के लिए बड़ा कानून बनाया है। अब चीन में कर्जदार बिना पैसा चुकाए चैन से नहीं रह पाएंगे। चीन की सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कर्ज ना चुकाने वालों को सामाजिक बहिष्कार करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही चीन में कर्जदार अब बुलेट ट्रेन में सफर नहीं कर पाएंगे। न तो वो हवाई सफर कर पाएंगे और ना उनके बच्चों को प्राइवेट स्कूल में एडमिशन मिलेगा। चीन के सुप्रीम कोर्ट से सख्त फैसला सुनाते हुए कहा कि देश में करीब 67 लाख ऐसे लोग हैं जिन्होंने बैंक या सरकारी संस्थाओं से कर्ज लिया है। कोर्ट ने इनका नाम भी सार्वजनिक कर दिया है। चीन के कुल 44 संस्थानों ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। अब चीन में कर्जदार बिना कर्ज चुकाए चैन से नहीं रह पाएंगे।

SHARE