यूपी में काम नहीं कारनामा बोलता है – नरेंद्र मोदी

सुबह राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने साझा प्रेस को संबोधित कर प्रधानमंत्री पर चुटकी ली औऱ कहा कि वो मन की बात करते हैं और हम काम की बात करते हैं। कुछ ही देर बार बदायूं में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अखिलेश सरकार का नारा है काम बोलता है, यहां अखिलेश सरकार के नाम नहीं सिर्फ कारनामे बोलते हैं।

देश का सबसे पिछड़ा जिला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के बदायूं में  रैली के दौरान कहा कि देश के सबसे ज्यादा पिछड़े 100 जिलों में एक बदायूं भी एक है। सपा और बसपा को अपने काम का हिसाब देना चाहिए। यहां विकास नहीं,प्राथमिक सुविधाएं नहीं हैं। सारी बुराइयां सरकार में भरी पड़ी हैं। मोदी ने कहा दिल्ली में हमारी सरकार बनने के बाद मैंने बिजली वालों को बुलाया और पूछा कि आजादी के 70 साल हो रहे हैं, मुझे बताओ कितने गांव ऐसे हैं, जहां बिजली नहीं पहुंची। अफसरों ने जवाब दिया कि ऐसे 18 हजार गांव हैं, जहां पर अभी तक बिजली ही नहीं गई। क्या आजादी के 70 साल के बाद भी हिन्दुस्तान के 18000 गांव अंधेरे में रहें। 18वीं शताब्दी में जीते हैं, इससे बड़ा कलंक क्या होगा। मैंने करके दिखाया। जरा सपा-बसपा और कांग्रेस वाले बताएं कि ये उनका दायित्व नहीं था क्या।यूपी में 1500 गांव ऐसे थे,जहां बिजली का खंभा तक नहीं था। लेकिन, मुलायम, मायावती, अखिलेश और एक कुनबे को जहां जाना था चले गए। आप लोग जहां थे, वहीं रह गए।

समाजवादी पार्टी के भ्रष्टाचार पर हमला

सपा के एमएलए सपा के एमपी पर आरोप लगाते हैं कि अवैध खनन करते हैं, बिजली के तार लगाने में भ्रष्टाचार करते हैं। ये तो मोदी है, जिसमें दम है कि 500 गांवों में बिजली पहुंचा दी। कोई भी पाप करो तो ये कह देते हैं कि बच्चा है, गलतियां करता है। यूपी में शहर हो या गांव हो, दिन हो या रात हो, सुबह हो या शाम हो, क्या कभी भी यूपी के गांव या शहर में कोई बहन-बेटी अकेली घर के बाहर निकल सकती है क्या?

अखिलेश बताएं अच्छे दिन क्यूं नहीं आए
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अखिलेश बोलते हैं – अच्छे दिन आ गए क्या? मैं पूछता हूं कि 5 साल से यूपी में राज करते हो और अगर जनता कहती है कि नहीं आई है तो ये आपकी जिम्मेदारी है। उन्हें समझ में नहीं आता कि कौन सवाल, कहां पूछना चाहिए। अगर अच्छे दिन नहीं आए हैं यूपी में तो 5 साल सपा और 5 साल बसपा ने राज किया, उनसे सवाल पूछने का वक्त आ गया है।
सबूत चाहिए तो धरती ही नहीं आसमान से भी देखो
मैं बदायूं से हिंदुस्तान को खुशखबरी देता हूं। हमारे वैज्ञानिकों ने एक बहुत बड़ा पराक्रम किया है। आज दुनिया में मिसाइल से लड़ाइयां लड़ी जाती हैं। सब मिसाइल बनाकर डरा रहे हैं। हमारे पास भी ताकतवर मिसाइले हैं। आसमान में 200 किलोमीटर के भी ऊपर कोई दुश्मन की मिसाइल आती है तो 150 किलोमीटर के अंदर उसे राख कर दिया जाएगा। आज हमारे वैज्ञानिकों ने इस काम को सफलतापूर्वक अंजाम दे दिया। दुनिया में ऐसे केवल 4-5 देश हैं। लेकिन, मुझे पता है कि ये लोग बयान देंगे कि सबूत क्या है। सबूत देखना है तो 150 किलोमीटर ऊपर होकर आ जाओ। नहीं जाएंगे, कहंगे कि चुनाव के बाद जाएंगे।
SHARE