भोर लिटरेचर फेस्टिवल: चंपारण में इस बार होगी गांधी और गांव पर चर्चा

145

नई दिल्ली। पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी भोर लिटरेचर फेस्टिवल (BLF) का आयोजन हो रहा है। यह आयोजन चंपारण के फुलवरिया गांव में आयोजित किया जा रहा है। भोर संस्था द्वारा आयोजित यह साहित्यिक समारोह 15-16 अप्रैल 2017 को होगा।

दो दिनों के इस साहित्यिक समारोह में इसबार महात्मा गांधी की चंपारण यात्रा के शताब्दी वर्ष के उत्सव के तौर पर मनाया जाएगा। इस कार्यक्रम के जरिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कार्यों और चंपारण के प्रति उनके योगदान को याद
किया जाएगा। उनके प्रति कृतज्ञता प्रकट की जाएगी। देश, समाज और खासकर गांव के प्रति महात्मा गांधी के लगाव और उनकी सोच पर चर्चा होगी और उनके सिद्धांतों पर चलकर कैसे बेहतर समाज का निर्माण हो सकता है उस पर विचार रखा जाएगा।

इस बार भोर लिटरेचर फेस्टिवल का थीम गांधी और गांव होगा। दो दिनों तक चलने वाले इस समारोह में दो मुख्य सत्र होंगे। पहले दिन यानि 15 अप्रैल को 11 बजे से गांधी और गांव पर चर्चा होगी और दूसरे दिन यानि 16 अप्रैल को युवा पीढ़ी में गांधी की प्रासंगिकता पर विचार विमर्श किया जाएगा।

दोनों सत्र के मुख्य वक्ताओं में पूर्व डीजीपी, लेखक और महात्मा गांधी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति विभूति नारायण राय, वरिष्ठ पत्रकार और लेखक अरविंद मोहन, इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत, प्रभात खबर के संस्थापक संपादक एस एन विनोद, पश्चिमी चंपारण के सांसद संजय जयसवाल, बीजेपी नेता साबिर अली, मशहूर कवि लक्ष्मीशंकर बाजपेयी और वरिष्ठ पत्रकार अभिरंजन कुमार के अलावा कई लेखक, चिंतक, पत्रकार और समाजसेवी उपस्थित होंगे। वरिष्ठ पत्रकार, टीवी एंकर, शगुन टीवी के मैनेजिंग डायरेक्टर और भोर के संस्थापक अनुरंजन झा सत्र का संचालन स्वयं करेंगे।

SHARE