क्या सच में इस नंबर 777888999 से फोन आने पर ब्लास्ट हो रहा है ?

280

सोशल मीडिया पर पिछले दो दिनों से एक मौत की घंटी वाला फोन नंबर ज़बरदस्त तरीके से वायरल हो रहा है। इसे वायरल करने वालों में काफी पढ़े-लिखे और समझदार लोग भी शामिल हैं। दरअसल जब किसी भी अपने की जान खतरे में होने की आशंका होती है तो हम काफी भावुक, चिंतित और सतर्क हो जाते हैँ।

इस फोन नंबर के साथ एक मैसेज भी वायरल है कि अगर आपने उस नंबर से आई कॉल को रिसीव किया तो आपका मोबाइल फट जाएगा, ब्लास्ट हो जाएगा और आपकी मौत हो सकती है। कल सुबह से वायरल हो रहे मैसेज में शाम होते होते दस लोगों के मरने की खबर भी जुड़ गई। दिलचस्प बात यह है कि डेथ कॉल का दावा करने वाला ये मोबाइल नंबर नौ अंकों का है।

777888999 इस नंबर को मत उठाइए, अगर आप अपने मोबाइल में इस नंबर से आई कॉल को रिसीव करेंगे और आपका मोबाइल फोन एक धमाके के साथ ब्लास्ट हो जाएगा। ऐसा एक व्हाट्सएप मैसेज देश के लाखों लोगों के मोबाइल पर फ्लैश हुआ। इस मैसेज को पढ़ने वाले लोग दहशत में आ गए। यह जानते हुए भी कि यह सच नहीं हो सकता अनहोनी की आशंका से लोगों ने इस दूसरों के पास भेजना शुरु किया। मैसेज को हर भाषा में शेयर किया जा रहा है कन्नड़, गुजराती और बंगाली। आमतौर पर ऐसा देखने को नहीं मिलता कि किसी भी मैसेज को इतनी भाषाओं में एक साथ एक ही दिन शेयर किया जाए, लेकिन डेथ कॉल का ये मैसेज  देश के लाखों मोबाइल कंज्यूमर्स के पास पहुंच चुका है।

जानिए डेथ कॉल वाले मोबाइल नंबर का सच?

मौत की कॉल वाला ये मोबाइल नंबर इतना वायरल हो गया कि शाम होते होते कई टीवी चैनलों ने इस वायरल संदेश की पड़ताल करनी भी शुरु कर दी। जांच में जो सामने आया उस पर गौर कीजिए। भारत में आमतौर पर मोबाइल नंबर 10 अंकों का होता है, लेकिन मौत की घंटी बजाने वाला ये नंबर 9 अंको का है, लोगों के डर और खौफ की भी बड़ी वजह यही है कि आखिर ये नौ अंकों वाला नंबर किसका है, कहां का है, अगर इस नंबर से कॉल आई तो क्या सचमुच किसी की मौत हो सकती है? जाने माने साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल ने बताया, अगर हिंदुस्तान के बाहर से यानी कोई आईएसडी कॉल आती है तो 9 अंको का नबंर हो शायद ऐसा मुमकिन है, लेकिन विदेश के भी किसी मोबाइल नंबर के साथ उस देश का 2 अंको वाला कोड भी फ्लैश होगा। इतना ही नहीं पवन दुग्गल ने कहा कि हमें पता चल चुका है कि हज़ारों लाखों लोगों के मोबाइल स्क्रीन पर फ्लैश होने वाले डेथ कॉल का ये मैसेज बेबुनियाद है और लोगों को गुमराह करने की कोशिश भर है। अभी तक ऐसी कोई तकनीक नहीं है जिससे दूसरे नम्बर पर फ़ोन करके धमाका कराया जा सके।

तो अब अगर आपके मोबाइल पर यह संदेश आए तो आप परेशान न हों। सावधान रहें और इसे आगे बढ़ाने की कोशिश नहीं करें। यह किसी का दिमागी फितूर है जिसके जरिए सोशल मीडिया और मोबाइल फोन जैसे माध्यमों का वो दुरुपयोग कर रहा है।

SHARE